जानिए केसा रहेगा महिलाओं/स्त्रियों के लिए वर्ष 2017

जानिए केसा रहेगा महिलाओं/स्त्रियों के लिए वर्ष 2017:--

प्रिय पाठकों, राशिफल के प्रति सभी की जिज्ञासा होती है। माना जाता है कि
राशिफल द्वारा आप जीवन की कुछ ऐसी घटनाओं का पूर्वानुमान लगा सकते हैं जो
भविष्य में होने वाली हैं। साथ ही इसके द्वारा आप अपने प्यार, व्यापार,
कारोबार और स्वास्थ्य आदि के बारे में भी जान सकते हैं। यह महीना किसी राशि के
लिए अच्छा तो किसी को परेशान भी कर सकता है। ज्योतिषानुसार भविष्य जानने का
सबसे सटीक तरीका राशिफल होता है।

जानिए आपकी राशियों पर आधारित वर्ष 2017 का अपना राशिफल ---

वर्ष 2017 नारी शक्ति यानी महिला वर्ग के लिए मिला-जुला कहा जा सकता है।
महिलाओं के कारक ग्रह शुक्र की स्थिति वर्षारंभ में कुंभ पर होकर मंगल केतु के
प्रभाव में है। 28 जनवरी से शुक्र की स्थिति उच्च की होगी व 4 मार्च तक मार्गी
रहेगी। इस समयावधि में महिलाओं को हर कार्यों में सफलता मिलेगी, वहीं देश की
नारी शक्ति आर्थिक दृष्टि से सबल होगी। इस नए साल में नारी शक्ति को रोजगार के
नए अवसर आएंगे। अविवाहिताओं के लिए शुभ संकेत हैं।

शुक्र 5 मार्च 2017 से उच्च होकर वक्र स्थिति में 15 अप्रैल 2017 तक रहेगा। इस
समय किसी के प्रलोभन में न आएं, न ही कोई अनुचित कदम उठाएं।  शुक्र 16 अप्रैल
2017 से उच्च की स्थिति में होकर मार्गी होगा, जो 31 मई 2017 तक रहेगा। इस समय
पिछली चल रही परेशानियां दूर होंगी। विशेष वक्र स्थिति में वृषभ व तुला राशि
वालों को ध्यान रखना होगा।मीन व मेष राशि वाली  नारी शक्ति के लिए थोड़ा
राहतभरा साल रहेगा।

शनिदेव  26 जनवरी 2017 से वृश्चिक से धनु में आ रहे हैं अत: कुंभ राशि वालों
के लिए यह वर्ष अधिक फायदे का होगा। मनमाफिक सफलता के योग बन रहे हैं।सिंह
राशि वाले अपने नीतिगत फैसले किसी को जाहिर न करें तो अनुकूलता रहेगी। आपके
लिए माणिक पहनना लाभदायक रहेगा।  कुंभ राशि वालों के लिए लाभप्रद रहेगा।  वृषभ
राशि वाली नारी शक्ति के लिए राजयोग बनकर यह साल लाभप्रद रहेगा। मिथुन, कन्या,
वृश्चिक राशि वाली नारी शक्ति के लिए यह साल थोड़ा सुधारवादी हो कर  अत्यंत
अल्प लाभ की स्थिति रह सकती है।वृश्चिक राशि पर शनि की वर्तमान स्थिति 26
जनवरी तक रहेगी, फिर शनि धनु राशि पर ढाई साल रहेंगे। अभी जिन महिला राजनेताओं
को शनि, दशम, चतुर्थ, अष्टम भाव से गोचरीय भ्रमण कर रहा है, उन्हें
सावधानीपूर्वक चलना होगा।

वर्ष 2017  में नारी शक्ति के लिए बुध व्यापार व नौकरी के दशम भाव में है।
सप्तम स्थान दैनिक या स्किल डेवलपमेंट का कारक है और उसके वक्री होने से साल
की शुरुआत कुछ गड़बड़ है।भाग्य भाव का स्वामी हमेशा की तरह लग्न में है लेकिन
भाग्य भाव पर राहु कुंडली मारकर बैठा है, जो नारी युवा शक्ति को प्रभावित
करेगा। यह वर्ष युवतियों की आकांक्षाओं के अनुरूप नहीं है।

नवयुवतियों को दोस्ती सोच-समझकर करना होगी। जल्दबाजी में कोई भी कदम उठाने से
परहेज करना होगा। शनि का वर्ष है और शनि स्त्रीपक्ष को हानि करता है। सेक्स
स्कैंडल, महिलाओं से जुड़े अपराधों की कमी दिखाई नहीं देगी, न ही उनके लिए
कानून सख्त नजरिया रख पाएगा। साल के प्रारंभ में शुक्र पर राहु की नजर भी
स्त्री पक्ष के लिए ठीक नहीं होगी। मिथुन, कन्या राशि वाली नारी शक्ति के लिए
भी शुभ संकेत हैं। आपके कार्य में आ रही परेशानियां दूर होंगी। जिन्हें ऐसा
लगता है कि कोई बाधा सता रही है उन्हें कच्ची जमीन पर प्रति शनिवार को तिल का
तेल 1 चम्मच गिराना चाहिए इससे  शनि का शुभ फल मिलेगा।